मध्यप्रदेश: शिवराज ने नेहरूजी को कहा अपराधी और युद्ध विराम का दोषी, कमलनाथ बोले, 'उनकी मौत के बाद ऐसा कहना निंदनीय' - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

मध्यप्रदेश: शिवराज ने नेहरूजी को कहा अपराधी और युद्ध विराम का दोषी, कमलनाथ बोले, ‘उनकी मौत के बाद ऐसा कहना निंदनीय’

भोपाल (एजेंसी) | पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को अपराधी बताने के बाद राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस की ओर से कई नेताओं ने प्रतिक्रिया दी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी शिवराज के बयान पर ट्वीट कर इसकी निंदा की है।

उन्होंने ट्वीटर पर लिखा, “देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं.जवाहरलाल नेहरू जिन्हें आधुनिक भारत का निर्माता कहा जाता है,जिन्होंने आज़ादी के लिये संघर्ष किया,जिनके किये गये कार्य व देश हित में उनका योगदान अविस्मरणीय है। उनको मृत्यु के 55 वर्ष पश्चात् आज अपराधी कह कर संबोधित करना,बेहद आपत्तिजनक व निंदनीय है।”


मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने शिवराज के बयान की निंदा की है। मंत्री लखन सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह जैसे मंझे हुए नेता से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी। नेहरूजी का सम्मान पूरा देश करता है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि शिवराज, नेहरूजी के पैरों की धूल भी नहीं है।

क्या कहा था शिवराज ने

दरअसल, शनिवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में मीडिया से बातचीत में शिवराज ने कहा था कि जवाहरलाल नेहरू एक अपराधी हैं, इसके दो मुख्य कारण है। पहला यह कि जब भारतीय फौज कश्मीर से पाकिस्तानी कबाइलियों को खदेड़ते हुए आगे बढ़ रही थी, ठीक उसी वक्त नेहरू ने संघर्ष विराम का ऐलान कर दिया। इस वजह से कश्मीर का एक-तिहाई हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे में रह गया। यदि कुछ दिन और सीजफायर की घोषणा नहीं होता तो पूरा कश्मीर भारत का होता।

दूसरी वजह बताते हुए शिवराज ने कहा नेहरू ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 लागू किया। एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान कैसे अस्तित्व में रह सकते हैं? यह केवल देश के साथ नाइंसाफी नहीं है, बल्कि अपराध भी है।

Leave a Reply