Chhattisgarh

नक्सलियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन की तैयारी, पहली बार सुकमा और बीजापुर में होंगे दो-दो एसपी, डीजीपी ने जारी किया आदेश

रायपुर | सीएम भूपेश बघेल ने नक्सल हमले में 17 जवानों की शहादत के बाद सुकमा और बीजापुर जिले में एक-एक और आईपीएस की नियुक्ति की है। एसपी स्तर के दोनों आईपीएस नक्सल ऑपरेशन में मदद करेंगे। यह पहली बार है, जब किसी जिले में एसपी रैंक के दो अफसर होंगे, जिनमें एक की नियुक्ति नक्सल ऑपरेशन के लिए होगी। इससे पहले बस्तर रेंज में नक्सल ऑपरेशन के लिए आईजी या डीआईजी की नियुक्ति की गई थी।

सीएम बघेल, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने सोमवार को सुकमा में नक्सल हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद उन्होंने अधिकारियों से हमले की जानकारी ली। डीजीपी डीएम अवस्थी सहित अन्य अधिकारियों से मीटिंग के बाद उन्होंने आगे की योजना पर बात की। इसके बाद डीजीपी ने महासमुंद के एसपी जितेंद्र शुक्ला को सुकमा और दसवीं वाहिनी सरगुजा में पदस्थ कमांडेंट केएल ध्रुव को बीजापुर में अस्थाई तौर पर तैनात किया है।

जितेंद्र सुकमा और ध्रुव बीजापुर के एसपी रहे हैं। दोनों को वहां की परिस्थितियों का अनुभव है, इसलिए को-ऑर्डिनेशन और मजबूती से ऑपरेशन चलाने के लिए नियुक्त किया गया है। केंद्रीय वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार और सीआरपीएफ के डीजी एपी माहेश्वरी ने भी बस्तर रेंज के पुलिस व सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ बैठक की है। बता दें कि एक दिन पहले एसटीएफ, डीआरजी और कोबरा बटालियन के जवान ऑपरेशन पर निकले थे, जिस पर नक्सलियों ने हमला किया। इसमें 17 जवान शहीद हो गए थे।

सीएम ने कहा- पूरी तैयारी के साथ जवान देंगे जवाब

सुकमा में जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद जब सीएम बघेल लौटे, तब उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि पूरी तैयारी के साथ जवान मैदान में उतरेंगे। सीएम ने कहा कि बड़ी क्षति हुई है। हमें उन जवानों पर गर्व है। बड़ी बहादुरी से उन्होंने नक्सलियों से लड़ाई लड़ी। सीएम ने दावा किया है कि मुठभेड़ में भारी संख्या में नक्सली भी मारे गए हैं। उन्होंने कहा कि एसटीएफ व डीआईजी के जवानों के हौसले बढ़े हैं। इस घटना के बाद अब हमारे जवान नक्सलियों को जड़ से उखाड़कर ही चैन की सांस लेंगे।

राज्यपाल उइके ने जवानों से कहा- आप लोगों ने नक्सलियों को दिया मुंहतोड़ जवाब

राज्यपाल अनुसुइया उइके ने सोमवार को हास्पिटल में सुकमा नक्सली मुठभेड़ में घायल हुए जवानों से मुलाकात की और कुशलक्षेम पूछा और हौसला अफजाई की। राज्यपाल ने कहा- मैं आप लोगों की बहादुरी को सेल्यूट करती हूं, जिस साहस से आपने नक्सलियों का सामना किया और उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया, उसकी प्रशंसा के लिए कोई भी शब्द कम है।

उन्होंने कहा कि आप जल्दी स्वस्थ हों, आप लोगों के इलाज में किसी भी प्रकार की कमी नही होने दी जाएगी। उन्होंने घायल जवानों के बेहतर इलाज के निर्देश दिए और उनके जल्द स्वास्थ्य लाभ की कामना की। उन्होंने इस घटना में शहीद हुए जवानों के परिवारजनों को भी प्रणाम करते हुए उनके प्रति संवेदना व्यक्त की।

विजय कुमार समिति की रिपोर्ट लागू करें : अमित

जोगी कांग्रेस अध्यक्ष अमित जोगी ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए के. विजय कुमार समिति की सभी सिफ़ारिशों को लागू करने की मांग की है। अमित ने कहा कि ऐसा पहली बार देखने को मिला है कि नक्सली हमले में 17 जवानों के शहीद होने के 24 घंटे बाद भी सरकार के किसी भी मंत्री ने नक्सलियों के खिलाफ एक शब्द नहीं बोला है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू हमेशा की तरह बेखबर हैं। मंत्री कवासी लखमा कहते हैं कि जवानों से चूक हो गई है।

Leave a Reply