Chhattisgarh

बैंक सखी कोरोना वारियर्स के रूप में कार्य कर गांव में दे रही बैंकिग सुविधायें

कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण के कारण लोग ऐतिहात बरत रहें है, जिसके फलस्वरूप लोग अपने घरों से भी नहीं निकल पा रहे है, ऐसे मुश्किल हालात में जिले की बिहान योजना के अन्तर्गत कार्यरत बैंक सखियों के द्वारा कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुये गांव में बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं तथा जरूरतमंद लोगों के घरों तक पहुंच कर उनके खातों में पैसो का भुगतान किया जा रहा है, जिससे ग्रामीणों को सहुलियत मिल रही है।
जिला पंचायत के सीईओ डाॅ संजय कन्नौजे ने बताया कि कांकेर जिले के सभी सात विकासखण्डों में 113 बैंक सखी कार्यरत है, जिनके द्वारा गांव में ही मनरेगा का मजदूरी भुगतान, राष्ट्रीय पेंशन, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, जनधन खातो का भुगतान एवं स्व सहायता समूहों का मानदेय, तेन्दूपत्ता का बोनस, आंगनबाड़ी सहायिका, सरपंच, सचिव, रोजगार सहायकों का मानदेय का भुगतान किया जा रहा हैै, साथ ही आपसी लेन-देन का कार्य कर बैकिंग सुविधा देने का काम कर रही है। जिले के इन बैंक सखियों के द्वारा इस वर्ष कन्टेमेन्ट जोन अवधि 10 अपै्रल से 10 मई तक 02 करोड़ 24 लाख रूपये का भुगतान किया गया है, जिसमें मनरेगा मजदूरी 68 लाख़ 95 हजार रूपये तथा पेश्ंान राशि (वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन सामाजिक सुरक्षा पेंशन) का 10 लाख 12 हजार रूपये तथा आपसी लेन-देन का  01 करोड़ 35 लाख रूपये का ट्रान्सजेक्शन किया गया है। नरहरपुर विकासखण्ड के 16 बैंक सखियों के द्वारा 68 लाख रूपये, चारामा के 22 बैंक सखियों द्वारा 23 लाख रूपये, कांकेर विकासखण्ड के 17 बैंक सखियों द्वारा 31 लाख रूपये, भानुप्रतापपुर के 12 बैंक सखियों द्वारा 29 लाख रूपये, दुर्गूकोंदल के 14 बैंक सखियों के द्वारा 26 लाख रूपये, अंतागढ़ विकासखण्ड के 15 बैंक सखियों द्वारा 28 लाख रूपये और कोयलीबेड़ा विकासखण्ड के 17 बैंक सखियों के द्वारा 22 लाख रूपये का भुगतान किया जाकर लोगों को बैंकिंग सुविधा प्रदान की गई है।
जिला पंचायत सीईओ डाॅ संजय कन्नौजे ने बताया कि कांकेर विकासखण्ड के कोकानपुर की बैंक सखी प्रज्ञा यादव द्वारा महीने में 20 लाख रूपये का मनरेगा एवं पेंशन सहित अन्य आपसी लेन-देन किया जा रहा है, जिससे कोकानपुर व उसके आसपास के गांव वालो को बैंकिग सुविधा गांव व घर में ही प्राप्त हो रहा है, इसके अलावा वेे द्वारा आॅनलाईन नक्शा-खसरा आॅनबोर्ड कार्य भी  कर रही है, जिससे गांव वाले बहुत खुश है।
इसी प्रकार अन्तागढ़ के नवागांव में बम्लेश्वरी पटेल, दुर्गूकोंदल के सुरूंगदोह में श्रीमती सतिला राना, कोयलीबेड़ा के संजू साहू, नरहरपुर के झलियामारी में पिंकी टेकाम, भानुप्रातपपुर के कुल्हाड़कट्टा में अश्वनी शिवहरे, चारामा के डोढकावाही में पार्वती पटेल द्वारा बैंक सखी का कार्य किया जा रहा है। उनके द्वारा कोरोना वारियर्स की तरह कार्य कर गांव मे ही मनरेगा, समस्त प्रकार के पेंशन, तेन्दूपत्ता के बोनस वं आपसी लेन-देन का कार्य कर बैंक सुविधा प्रदान किया जा रहा है। इसके लिये उन्हें जिला पंचायत से लेपटाॅप, मोबाईल, प्रिन्टर, स्वाइप मशीन इत्यादि प्रदान किये गये हैं तथा महीने में इन्हे 01 वर्ष तक 2500 रूपये प्रतिमाह मानदेय भी प्रदान किया जा रहा है।
इस प्रकार कांकेर जिले में बैंक सखियों द्वारा कोरोना वारियर्स की तरह कार्य करते हुए गांव वालो को बैंकिग सुविधा प्रदान की जा रही है, जिससे गांव वाले विशेषकर वृद्धापेंशन, सामाजिक सुरक्षा व विधवा पेंशन एवं मनरेगा के मजदूरों को बैंक आने-जाने में अनावश्यक परेशनी नहीं हो रहा है, साथ ही इन बैंक सखियों के आर्थिक व सामाजिक स्थिति में पहले से ज्यादा सृदृढ़ हुई है।

Advertisement
Rahul Gandhi Ji Birthday 19 June

Leave a Reply