Chhattisgarh Video

किसानों पर लाठीचार्ज पर गरमाई सियासत, केशकाल लाठीचार्ज पर भाजपा ने किया जांच दल का गठन

बलौदाबाजार | छत्तीसगढ़ में किसानों पर हुए लाठीचार्ज का मामला सियासी तौर पर गरमाता जा रहा है। केशकाल में किसानों पर हुए लाठी चार्ज की शिकायत राज्यपाल से करने बीजेपी का प्रतिनिधि मंडल राजभवन पहुंचा है। बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल में पूर्व सीएम रमन सिंह,सरोज पांडे, बृजमोहन अग्रवाल समेत कई नेता मौजूद रहे। प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल को पूरी रिपोर्ट सौंपी दरअसल केशकाल में लाठीचार्ज के बाद बीजेपी का एक दल कोंडागांव पहुंचा था। जहां किसानों से बातचीत की गई और ये रिपोर्ट अब राज्यपाल को सौंपी गई।

केशकाल लाठीचार्ज पर भाजपा ने किया जांच दल का गठन

केशकाल में किसानों पर लाठीचार्ज के मामले में भाजपा ने 5 सदस्यीय जांच दल का गठन किया है। जांच दल में पूर्व मंत्री केदार कश्यप, लता उसेंडी, पूर्व विधायक सेवक राम नेताम, किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चंद्राकर और किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संदीप शर्मा शामिल हैं। जांच दल केशकाल पहुंच गया है और वहां किसानों से बातचीत जारी है।

टीम वहां घायल किसानों से मुलाकात कर रहा है और उनकी चोटें भी देख रहा है। इसके बाद एक रिपोर्ट तैयार कर पार्टी को सौंपी जाएगी। माना जा रहा है कि भाजपा अब इसे बड़ा मुद्दा बनाने की तैयारी में है। दूसरी तरफ धान खरीदी का आखिरी दिन था। धान खरीदी को लेकर पिछले कुछ दिनों से जो बवाल मचा है उसे लेकर कृषि मंत्री रवींद्र चौबे का बड़ा बयान सामने आया है।

कृषि मंत्री ने कहा सरकार ने 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा था और सरकार ने दो दिन पहेल 82 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी कर ली है। जिन किसानों को टोकन मिल गए है। फड़ में जिनका धान आ चुका है उनका धान खरीदा जाएगा। रवींद्र चौबे ने ये भी कहा कि जो विरोध हो रहा है वो प्रायोजित है।

किसानों ने हाईवे जाम किया था, पुलिस ने लाठियां चलाई थी

केशकाल में धान खरीदी नहीं होने से बेचैन किसानों का गुस्सा मंगलवार को फूट पड़ा था। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग-30 को जाम कर दिया। जगदलपुर से लेकर नारायणपुर और कांकेर तक रास्ता बंद हो गया। किसानों ने कोंडागांव- नारायणपुर राष्ट्रीय राजमार्ग में कोकोड़ी पर प्रदर्शन किया। किसानों का कहना था, हम अपने बारदानों में धान लाए हैं। फिर भी लेने से मना किया जा रहा है। 6 घंटे से अधिक समय तक प्रदर्शन चलता रहा। जाम हटाने के लिए रात करीब 8 बजे पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था।

Leave a Reply