कलेक्टर-एसपी ने संयुक्त बैठक लेकर की समीक्षा, चुनाव बहिष्कार संबंधी कार्यो में लिप्त लोगों के खिलाफ होगी कार्रवाई

बलौदाबाजार (एजेंसी) | कलेक्टर कार्तिकेया गोयल एवं एसपी नीतु कमल ने आज यहां एसडीएम-तहसीलदार और पुलिस अधिकारियों की संयुक्त रूप से बैठक लेकर स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए आदर्श आचरण संहिता का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने जिले की सीमाओं पर तैनात एसएसटी टीमों को और अधिक सक्रियता के साथ काम करने की कड़ी हिदायत दी है।

उन्होंने कहा कि नामांकन दाखिला का काम पूर्ण होने के बाद प्रत्याशियों के प्रचार-प्रसार में भी काफी तेजी आई है। लिहाजा किसी भी तरह की अवैध कारोबार को रोकने वाहनों की जांच करें और संदेहास्पद सामग्री पाये जाने पर जब्ती के साथ थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराएं। उन्होंने मंगलवार की रात किये संयुक्त दौरे में हिरमी और डोटोपार में एसएसटी टीम द्वारा कर्तव्य के प्रति शिथिलता बरतने पर शो काॅज नोटिस भी जारी किए हैं।

कलेक्टर गोयल ने बैठक में कहा कि चुनाव आयोग के प्रेक्षकों का दौरा लगातार जारी है। जिला प्रशासन के साथ-साथ प्रेक्षकों द्वारा भी निगरानी टीमों के काम-काज पर पैनी नजर रखी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यालयों पर नारे-पोस्टर पाये जाने पर संपत्ति विरूपण अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई करें।

केवल पोस्टर-बैनर हटा लेना पर्याप्त नहीं है। उनके द्वारा किये गए अपराध की सजा भी मिलनी चाहिए। कलेक्टर ने बताया कि विरूपण अधिनियम केवल चुनाव तक के लिए नहीं बल्कि सभी दिनों के लिए प्रभावशील होता है। निजी घरों पर भी बगैर लिखित अनुमति के किसी भी प्रकार के लेखन की मनाही है।

कलेक्टर ने चुनाव बहिष्कार के संबंध में दीवार लेखन के जरिए प्रचार किए जाने को भी संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत कार्रवाई के निर्देश तहसीलदार को दिए। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति एक समय में डेढ़ लीटर से ज्यादा शराब परिवहन नहीं कर सकता। एसएसटी टीम यदि इन्हें पकड़ती है, तो आबकारी अधिनियमों के अंतर्गत सख्त कार्रवाई करें। बैठक में अपर कलेक्टर जोगेन्द्र नायक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जे.आर.ठाकुर सहित राजस्व और पुलिस विभाग के तमाम आला अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply