Chhattisgarh

बलौदाबाजार: सरकारी जमीन पर लगे 52 पेड़ों को काटा, पूर्व सरपंच सहित ग्रामीणों के खिलाफ FIR दर्ज करने के निर्देश

बलौदाबाजार | लॉकडाउन में मिली छूट का कुछ ग्रामीण नाज़ायज फायदा उठा रहे हैं। कसडोल तहसील के ग्राम मड़कडा में 50 से ज्यादा पेड़ों को काटा गया। इस शिकायत को कलेक्टर कार्तिकेया गोयल ने गंभीरता से लिया । उन्होंने हरे पेड़ काटने के लिए दोषी वर्तमान और पूर्व सरपंच सहित ग्रामीणों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए थाने में एफआइआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।

मड़कडा में पेड़ कटाई मामले की शिकायत मंत्रालय, रायपुर में हुई थी। एसडीएम कसडोल टेकचन्द अग्रवाल ने बताया कि गांव की सरकारी घास भूमि से हरे-भरे बबूल के पेड़ों की कटाई की गई है। ग्रामीणों ने लकड़ी बेचने के नियत से इन पेड़ों को बेदर्दी से काट डाला। जांच में पिछले कुछ सालों में कई बार ऐसी अवैध कटाई करने की बात सामने आई।

गांव के सरपंच जितेंद्र कैवर्त, बनसराम चौहान, दयालप्रसाद रावत, खूबलाल साहू,धरमलाल साहू, सुरेंदर साहू तथा पूर्व सरपंच राम गोपाल यादव को इस मामले का दोषी पाया गया है। पटवारी चन्द्र प्रकाश पैकरा और गांव के कोटवार को कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

Leave a Reply