कुश्ती में गोल्ड: बजरंग ने कहा था- पिछली बार 28 साल बाद गोल्ड मिला था, अब इतना इंतजार नहीं कराएंगे…

बजरंग को पहले राउंड में बाई मिली थी। इसके बाद उन्होंने तीनों मुकाबले तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर जीतकर फाइनल में जगह बनाई थी। बजरंग के जीतते ही कोच ने उन्हें कंधे पर उठा लिया।

जकार्ता | पहलवान बजरंग पूनिया ने 18वें एशियाई खेलों में पहले ही दिन भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। उन्होंने 65 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में जापान के दाइची ताकातानी को 11-8 से हराया। हरियाणा सरकार उन्हें तीन करोड़ रुपए देगी। बजरंग ने जकार्ता रवाना होने से पहले कहा था- ‘मेरे गुरु योगेश्वर दत्त ने देश को 28 साल बाद एशियाड में कुश्ती का गोल्ड दिलाया था, लेकिन अब हम इतना लंबा इंतजार नहीं कराएंगे।’

यह बजरंग का लगातार चौथा इंटरनेशनल मेडल है। 24 साल के बजरंग ने इससे पहले, गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स, तबलिसी ग्रांप्री (जाॅर्जिया), यासर दोगू इंटरनेशनल चैंपियनशिप (इस्तांबुल) में गोल्ड जीते थे। बजरंग को पहले राउंड में बाई मिली थी। इसके बाद उन्होंने तीनों मुकाबले तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर जीतकर फाइनल में जगह बनाई थी। बजरंग के जीतते ही कोच ने उन्हें कंधे पर उठा लिया।



Leave a Reply