भिलाई स्टील प्लांट में धमाका हादसा: जीएम कोक ओवन बैट्री, जीएम सेफ्टी और एजीएम ऊर्जा विभाग अधिकारी महीनेभर बाद गिरफ्तार, जमानत पर छोड़ा - गोंडवाना एक्सप्रेस
gondwana express logo

भिलाई स्टील प्लांट में धमाका हादसा: जीएम कोक ओवन बैट्री, जीएम सेफ्टी और एजीएम ऊर्जा विभाग अधिकारी महीनेभर बाद गिरफ्तार, जमानत पर छोड़ा

भिलाई (एजेंसी) | भिलाई स्टील प्लांट (बीएसपी) में 9 अक्टूबर को कोक ओवन हादसा में 14 कर्मियों की मौत मामले में पुलिस ने तीन अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए अधिकारियों में जीएम कोक ओवन बैट्री जीएन वेंकट सुब्रह्मण्यम, जीएम सुरक्षा व अग्निशमन टी. पांड्या राजा और एजीएम ऊर्जा नवीन कुमार अग्रवाल शामिल हैं। इन सभी अधिकारियो को पुलिस शुक्रवार को गिरफ्तार कर थाने ले आई थी।

हालांकि एक अन्य आरोपी निदेशक वर्क्स पीएके दास के छुट्‌टी पर होने के कारण गिरफ्तारी नहीं हो सकी। लेकिन सभी धाराएं जमानती होने के चलते उन्हें करीब घंटेभर बाद मुचलके पर छोड़ दिया गया। जबकि हादसे में कोक ओवन के इंचार्ज ईडी पीके दाश के शहर के बाहर होने के चलते उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी। एडिशनल एसपी सिटी विजय पांडेय ने बताया कि दाश एक-दो दिन में जैसे ही यहां आएंगे, उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा। यह पहला मौका है जब पुलिस ने बीएसपी हादसे के बाद इतनी तत्परता दिखाते हुए कार्रवाई की।




बीएसपी के तीन अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया। भिलाई भट्टी थाना पुलिस ने यह कार्रवाई की। प्लांट के अधिकारियों की गिरफ्तारी की खबर फैली तो हड़कंप मच गया। थोड़ी ही देर में तमाम कर्मचारी एकत्र हो गए और बातचीत शुरू हो गई। हालांकि पुलिस ने कुछ घंटों की पूछताछ के बाद सभी को जमानत पर रिहा कर दिया। पुलिस का कहना था कि यह एक जमानती अपराध है, जिसके चलते सभी को छोड़ा गया है। अन्य आरोपी निदेशक वर्क्स दास के छुट्‌टी से लौटते ही गिरफ्तारी संभव है। उनसे भी पूछताछ की जा सकती है।

कार्य में लापरवाही बरतने की लगाई गईं धाराएं

एएसपी सिटी विजय पांडेय ने बताया कि बीएसपी के चार अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर की गई थी। उसमें से तीन अधिकारियों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया है।  चौथा आरोपी पीके दास बाहर है, उसके आते ही गिरफ्तार किया जाएगा। इन अधिकारियों के खिलाफ कार्य में लापरवाही बरतने पर धारा 304 ए के तहत कार्रवाई की गई है।

मेंटेनेंस के दौरान हुआ था धमाका

बीएसपी में 9 अक्टूबर को कोक ओवर बैटरी 11 से सिंटर प्लांट-3 के मशीन 2 कोक सप्लाई करने वाले मेन पाइन के मेंटिनेंस सा शेड्यूल था। उसी दौरान सुबह करीब सुबह 10.30 से 12 बजे के बीच पाइन के ज्वाइंट वाले हिस्से में नट-बोल्ट खोलते ही धमका हो गया। इसमें एक अधिकारी समेत 14 बीएसपी कर्मियों की मौत हो गई थी। कई कर्मचारी इसकी चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलस भी गए थे। शुरुआती जांच के दौरान लापरवाही की बात सामने आई थी। हालांकि बीएसपी प्रबंधन इससे इनकार करता रहा। घटना के तीन दिन बाद गैर इरादतन हत्या की धाराओं में चार अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था।



Leave a Reply